कल से कैश का झांझट खत्म , लॉन्च होगी डिजिटल करेंसी - www.martandprabhat.com
मार्तण्ड प्रभात न्यूज में आपका स्वागत है। अपना विज्ञापन/खबर प्रकाशित करवाने के लिए वाट्सएप करे - 7905339290। आवश्यकता है जिला वा ब्लॉक स्तर पर संवाददाता की संपर्क करें -9415477964

कल से कैश का झांझट खत्म , लॉन्च होगी डिजिटल करेंसी

बस्ती । 1 दिसंबर 2022 भारत के इतिहास में क्रांतिकारी दिन साबित होने वाला है । आपको जेब में नोट लेकर चलने की जरुरत नहीं होगी अब आप ऑनलाइन भुगतान बिना नेट के सर सकते है । ना तो किसी कैश की जरूरत होगी ना ही upi सिस्टम की क्योंकि कल से भारत का रिटेल डिजिटल रुपया (Digital Rupee) लॉन्च होने जा रहा है।

फिलहाल अभी भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इसे पायलट प्रोजेक्ट के रूप में लॉन्च करने की घोषणा की है।जिसे शुरुआत में सिर्फ चार शहरों और चार बैंकों में लॉन्च किया जाएगा इसके बाद में इसे नौ और शहरों में लाया जाएगा।

क्या होगा नाम

रिजर्व बैंक के इस डिजिटल करेंसी को सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) नाम दिया गया है।

उपयोग कैसे होगा 

इसका उपयोग आप  रिटेल/खुदरा डिजिटल रुपए लेन-देन के साथ किसी भी दुकान से खरीदारी के लिए कर  सकेंगे। ग्राहक खरीदारी के बाद दुकानदार द्वारा दिए गए QR कोड को स्कैन करके इससे भुगतान करेगा ।

इसके लिए रुपए की तरह दिखने वाला डिजिटल नोट जारी किया जाएगा । इसके लिए आप को डिजिटल वैलेट भी बैंक देगा जिसमे आप अपनी डिजिटल मुद्रा को रख सकेंगे  लेकिन अभी इसके जमा पर कोई ब्याज बैंक द्वारा नही मिलेगा ।

अब तक आप कागज के बने नोट का इस्तेमाल खरीदारी या किसी भी लेन-देन के लिए किया करते थे, लेकिन डिजिटल रुपये के आने से यही काम आप ऑनलाइन कर सकेंगे। 

आठ बैंक होंगे शामिल

 पहले चरण के रूप में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक में इसे शुरू किया जा रहा है। RBI के अनुसार, इस पायलट में भागीदारी के लिए आठ बैंकों की पहचान की गई है।

चार महानगरों में होगा लॉन्च

1 दिसंबर से रिटेल डिजिटल रुपये के इस्तेमाल का पहला मौका मुंबई, नई दिल्ली, बेंगलुरु और भुवनेश्वर के लोगों को मिलने वाला है।

इसके बाद इसे अहमदाबाद, गंगटोक, गुवाहाटी, हैदराबाद, इंदौर, कोच्चि, लखनऊ, पटना और शिमला जैसे शहरों में जारी किए जाने की योजना है।

फायदा क्या होगा 

डिजिटल रुपये की सबसे बड़ा बेनिफिट है कि इससे कैश रखने की झंझट खत्म हो जाएगी।  डिजिटल रुपया आरबीआइ की तरफ से बैंक देंगे, इसलिए यह वैधानिक होगा। 

 यह बिना इंटरनेट कनेक्शन के काम करेगा। सरकार को उम्मीद है कि इसके इस्तेमाल से अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में मदद मिलेगी।

कागजी नोटों के बराबर ही वैल्यू

इसकी वैल्यू कागजी नोटों के बराबर ही होगी ।अगर आप चाहें तो इसे देकर कागजी नोट भी हासिल कर सकते हैं।

दो कैटेगरी में होंगे रुपए

रिजर्व बैंक ने डिजिटल करेंसी को दो कैटेगरी CBDC-W और CBDC-R में बांटा है. CBDC-W मतलब होलसेल करेंसी और CBDC-R का मतलब रिटेल करेंसी से है।

error: Content is protected !!
×