तो क्या चढ़ावे ने बाध दिए है विभाग के हाथ पाव - www.martandprabhat.com
मार्तण्ड प्रभात न्यूज में आपका स्वागत है। अपना विज्ञापन/खबर प्रकाशित करवाने के लिए वाट्सएप करे - 7905339290। आवश्यकता है जिला वा ब्लॉक स्तर पर संवाददाता की संपर्क करें -9415477964

तो क्या चढ़ावे ने बाध दिए है विभाग के हाथ पाव

बस्ती (मार्तण्ड प्रभात)। जिले मे पीएनडीटी का बुरा हाल है। यहां तो खेत ही मेड खा रहा है। यहां तो स्वास्थ्य विभाग एवं मास्टर माइंड डायग्नोस्टिक सेन्टर संचालक मिलकर बडा खेल कर रहे हैं। हो क्यों न जब इस सुविधा के लिए प्रत्येक संचालक 50 हजार रूपया महीना साहब को चढावा चढाता है।

जिले मे 119 डायग्नोस्टिक सेन्टर पंजीकृत हैं आप गणित लगा लीजिए यह भारी भरकम रकम कहां और किसके जेब मे जाता है।

यह हम नही बल्कि विभागीय भरोसेमेद सूत्र नाम न छापने के शर्त पर बता रहे हैं। इतना ही नही बल्कि जिस जगह के लिए डायग्नोस्टिक सेन्टर पंजीकुत है उसमें भी घालमेल हैं जो बडा धोखाधडी का मामला है। जिसे विभाग के आला अधिकारी भी बाखूबी जानते हैं।

एक ऐसा डायग्नोस्टिक सेन्टर प्रकाश मे आया है जो आकृति डायग्नोस्टिक सेन्टर गायघाट के नाम से पंजीकृत है लेकिलन जिम्मेदारों के आसीम अनुकम्पा से कुदरहा मे सरकारी अस्पताल के सामने खुलेआम संचालित है।

गत दिनों जिले के सभी डायग्नोस्टिक सेन्टरों की जांच डीएम के द्वारा गठित टीम भी जांच कर चुकी है और ऑल इज वेल का रिर्पोट भी लगा चुकी है। जांच अधिकारियों को सेन्टर के पजींकरण का पता भी घूस के गर्मी के आगे नही दिखाई दिया। हलांकि यह जांच रिर्पोट अभी दबाया और छिपाया गया है।

इस सम्बन्ध मे अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य बस्ती मण्डल डा0 नीरज कुमार पाण्डेय से पूछा गया तो उन्होने बताया कि यदि पंजीकृत स्थान से अन्य जगह डायग्नोस्टिक सेन्टर संचालित किया जा रहा है तो कानूनन गलत है इसकी जांच कराकर संचालक के विरूद्व कार्यवाही करते हुए पंजीकरण निरस्त किया जायेगा।

error: Content is protected !!
×