डिफ केस एप बना मरीजों के जी का जंजाल,भटक रहे मरीज - www.martandprabhat.com
मार्तण्ड प्रभात न्यूज में आपका स्वागत है। अपना विज्ञापन/खबर प्रकाशित करवाने के लिए वाट्सएप करे - 7905339290। आवश्यकता है जिला वा ब्लॉक स्तर पर संवाददाता की संपर्क करें -9415477964

डिफ केस एप बना मरीजों के जी का जंजाल,भटक रहे मरीज

बस्ती । जिला अस्पताल में भी अब दिज्तालीकरण को बढ़ावा दिया जा रहा है इसी क्रम में जिला अस्पतालों में मरीजों के रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को आधुनिक बनाते हुए एक एप शुरू किया गया।जिसका नाम है डिफकेस ।

अब तिमारदारो एवं मरीजो को डिफकेस ऐप मोबाइल में डाउन लोड करना पड़ रहा इसी एप से ही अब रजिस्ट्रेशन करवाया जायेगा।यदि आपके पास एंड्रायड मोबाइल नहीं है तो पर्ची नही कटेगी ।

अब उसका सबसे बड़ा खामियाजा उन माध्यम और निम्न वर्ग के लोगो को भुगतना पड़ रहा है जो अभी तक एंड्रॉयड मोबाइल से दूर थे।क्योंकि इनको या तो मोबाइल चलाना नहीं आता या इनके पास एंड्रॉयड मोबाइल होता नही।और अस्पताल में आने वाले अधिकांश मरीज ग्रामीण क्षेत्र के माध्यम या निम्न वर्ग के होते है।

इस वजह से अर्जी को पर्चे बनवाने में भरी प्रेषणी हो रही है जिससे भीड़ बहुत बढ़ जाती है। ये अलग बात है की अस्पताल ने एक व्यक्ति को सहयोग के लिए रखा है लेकिन उसका व्यवहार भी राजा जैसा है।

मरीजों का कहना है कि पर्चा बनवाने के लिए लाइन में बहुत देर तक खड़ा रहना पड़ रहा है,जिनके पास छोटा वाला मोबाइल है इसमे कोई पर्चा बन नहीं पा रहा । उसमे एक अलग समस्या है ओटीपी की, यदि ओटीपी नही आई तो पर्चा नही बनेगा।

इसको लेकर जब जिला अस्पताल के सीएमएस से बात की गई तो उन्होंने इसके बहुत सारे फायदे भी गिनाए। उन्होंने बताया कि य़ह एप्प सम्पूर्ण देश में चल रहा हैं एप के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करवाने से मरीजों को देश के किसी भी सरकारी अस्पताल मे इलाज कराने मे आसानी होगी क्योंकि मरीज़ की बीमारी की डिटेल डाक्टर को आसानी से मिल जायेगी।

पुराने पर्चे मरीज़ को लेकर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने बताया की व्यवस्था नई है इसलिए कुछ परेशानियां भी आएंगी।लोगो को समझने में थोड़ा समय लगेगा, मरीजों के सहयोग के लिए हमने एक व्यक्ति को लगाया है।जो लोगो का सहयोग करेगा।

error: Content is protected !!
×