82.27 प्रतिशत शिक्षकों ने किया मतदानः हड़ताल को दिया पूर्ण समर्थन, विरोध में कोई मत नहीं - www.martandprabhat.com
मार्तण्ड प्रभात न्यूज में आपका स्वागत है। अपना विज्ञापन/खबर प्रकाशित करवाने के लिए वाट्सएप करे - 7905339290। आवश्यकता है जिला वा ब्लॉक स्तर पर संवाददाता की संपर्क करें -9415477964

82.27 प्रतिशत शिक्षकों ने किया मतदानः हड़ताल को दिया पूर्ण समर्थन, विरोध में कोई मत नहीं

82.27 प्रतिशत शिक्षकों ने किया मतदानः हड़ताल को दिया पूर्ण समर्थन, विरोध में कोई मत नहीं

बस्ती। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक षिक्षक संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल और संघ पदाधिकारियों के संयोजन में बुधवार को मतदान प्रक्रिया के बाद मतों की गणना की गई। जनपद के 82.27 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पुरानी पेंशन बहाल किये जाने की मांग को लेकर पेंशन बहाली संयुक्त मंच ‘एन.जे.सी.ए. के आवाहन पर जनपद के सभी बी.आर.सी. केन्द्रों मतदान कराये गये थे और बुधवार को प्रेस क्लब सभागार में दिन में 9.30 बजे से 1 बजे तक छूटे हुये शिक्षकोें का मतदान कराया गया।

मतगणना के बाद आयोजित प्रेस वार्ता में संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने कहा कि पेंशन बहाली संयुक्त मंच ‘एन.जे.सी.ए. के आवाहन पर पुरानी पेंशन बहाल किये किये जाने की मांग को लेकर चरणबद्ध ढंग से राष्ट्र व्यापी आन्दोलन जारी है। पत्रकारों के प्रश्नों का उत्तर देते हुये श्री शुक्ल ने कहा कि मतगणना के बाद राष्ट्रीय स्तर पर आन्दोलन की रणनीति तंय की जायेगी। जनवरी 2024 में राष्ट्रीय स्तर पर हड़ताल किये जाने के निर्णय को लेकर मतदान कराया गया है।

श्री शुक्ल ने बताया कि परसुरामपुर में 99.38, विक्रमजोत-40.47, हर्रैया 82.79, दुबौलिया 80, कप्तानगंज 60.21, कुदरहा 95.48, बहादुरपुर 47.61, रामनगर 88.28, सल्टौआ 83.71, गौर 61.71, सांऊघाट 40.20, रूधौली 51.41, बनकटी 60.75, बस्ती सदर 48.48 और नगर क्षेत्र में 97.14 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। प्रेस क्लब में कुल 768 लोगोें ने मतदान किया। हडताल के विरोध में कोई मत नहीं पडा।

यह जानकारी देते हुये जिला प्रवक्ता सूर्य प्रकाश शुक्ल ने बताया कि मतदान और मतगणना प्रक्रिया में मुख्य रूप से अखिलेश मिश्र, राघवेन्द्र प्रताप सिंह, विजय प्रकाश चौधरी, अभय सिंह यादव, शैल शुक्ल, विवेकानन्द चौरसिया, देवेंन्द्र वर्मा, दिवाकर सिंह, शोभाराम वर्मा, राम अवनीश तिवारी, भरत वर्मा, चन्द्रभान चौरसिया, बब्बन पाण्डेय, मो. सलाम, कृष्ण कुमार, धर्मेन्द्र उपाध्याय, हरिकृष्ण उपाध्याय, रमेश विश्वकर्मा, विश्वमणि उपाध्याय आषुतोष, रेनू लता, आभा सिंह, रीता शुक्ला, बीनू लता, केतकी पाण्डेय के साथ ही अनेक शिक्षकों ने योगदान दिया।

error: Content is protected !!
×