भाकियू की बैठक में गूंजा जमीनी मुद्दाः धान की रोपाई के लिये नहरों में पानी छोड़ने की मांग - www.martandprabhat.com
मार्तण्ड प्रभात न्यूज में आपका स्वागत है। अपना विज्ञापन/खबर प्रकाशित करवाने के लिए वाट्सएप करे - 7905339290। आवश्यकता है जिला वा ब्लॉक स्तर पर संवाददाता की संपर्क करें -9415477964

भाकियू की बैठक में गूंजा जमीनी मुद्दाः धान की रोपाई के लिये नहरों में पानी छोड़ने की मांग

बस्ती । शुक्रवार को भारतीय किसान यूनियन की बैठक जिलाध्यक्ष गौरीशंकर चौधरी की अध्यक्षता में शिवा कालोनी स्थित शिविर कार्यालय पर सम्पन्न हुई।

बैठक में किसान समस्याओं के निस्तारण हेतु कई विन्दुओं पर विस्तार से चर्चा हुई। निर्णय लिया गया कि शीघ्र ही एक प्रतिनिधि मण्डल जिलाधिकारी से मिलकर उन्हें स्थितियोें की जानकारी देगा।

बैठक में धान की रोपाई करने हेतु नहरों में पानी छोड़े जाने, जंगली और आवारा पशुओं से फसलों की सुरक्षा, फसल बीमा में निजी कम्पनियों को हटाकर सरकार द्वारा प्रीमियम जमा कराये जाने, सरकारी नलकूपांें को ठीक कराने, कृषि कार्य हेतु किसानों को निःशुल्क कनेक्शन दिलाये जाने, सहारा के निवेशकों का भुगतान कराये जाने, वरासत या वसीयत के नाम पर धन उगाही पर रोक लगाने, यूरिया, डीएपी पर किसी प्रकार का टैग न लगाने, कुदरहा विकास खण्ड क्षेत्र के लालगंज स्थित कुंआनों पुल पर जाली लगवाये जाने आदि पर विस्तार से चर्चा की गई।

भाकियू जिलाध्यक्ष गौरीशंकर चौधरी ने बैठक में कहा कि किसान समस्याओं का निस्तारण पहली प्राथमिकता है। डीएम से वार्ता के बाद यदि समस्यायें हल न हुई तो भाकियू बाध्य होगा आन्दोलन करेगा। बैठक में पूर्व अध्यक्ष जयराम चौधरी, शोभाराम ठाकुर, डा. आर.पी. चौधरी, रामकृष्ण चौधरी, रामचन्दर सिंह आदि ने संगठन की मजबूती पर महत्वपूर्ण सुझाव दिया।

मुख्य रूप से विनोद कुमार चौधरी, ब्रम्हदेव चौधरी, पंचराम, रामपाल सिंह, राधेश्याम, सीताराम, राम सुरेमन, रमेश चन्द्र, राम शव्द, कन्हैया प्रसाद, राजेन्द्र कुमार, बगेदू, शिवसागर, के साथ ही भाकियू के अनेक पदाधिकारी शामिल रहे।

error: Content is protected !!
×