पुरानी बस्ती में चोरी हुआ ट्रैक 24 घंटे में बरामद - www.martandprabhat.com
मार्तण्ड प्रभात न्यूज में आपका स्वागत है। अपना विज्ञापन/खबर प्रकाशित करवाने के लिए वाट्सएप करे - 7905339290। आवश्यकता है जिला वा ब्लॉक स्तर पर संवाददाता की संपर्क करें -9415477964

पुरानी बस्ती में चोरी हुआ ट्रैक 24 घंटे में बरामद

पुरानी बस्ती में चोरी हुआ ट्रैक 24 घंटे में बरामद

जिसने बुकिंग दिलवाने के लिए रुकवाया था ट्रक उसने चोरी करवा दी

ऑपरेशन त्रिनेत्र के तहत लगवाए गए सीसी कैमरे की मदद से हुआ घटना का पर्दाफाश

बस्ती।(मार्तण्ड प्रभात)।  पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र के ढाबे के सामने खड़ा ट्रक चोरी करने वाले गिरोह का पुलिस ने 24 घंटे में पर्दाफाश करने में कामयाबी हासिल की है। पूछताछ में पता चला कि आरोपियों ने चालक से जान-पहचान का फायदा उठाते हुए पहले भाड़ा दिलाने का झांसा दिया। चालक भाड़े के इंतजार में जब ट्रक खड़ा करके ढाबे पर खाना खाने लगा तो लाॅक खोलकर ट्रक चोरी करवा दिया।

एसपी ने बताया कि ऑपरेशन त्रिनेत्र के तहत लगवाए गए कैमरे की मदद से इस घटना के पर्दाफाश में मदद मिली। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर चोरी गया ट्रक और एक कार बरामद कर लिया।

एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी ने प्रेसवार्ता में बताया कि 22 अगस्त की रात हाईवे के किनारे पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र के अंतर्गत अपोलो टायर हाउस के पास से एक ट्रक चोरी हो गया था। जिसके बारे में बुधवार को बहराइच जिले के दरगाह शरीफ थाना क्षेत्र के निरुद्दीन चक गांव निवासी गुल अहमद ने तहरीर दी।

जिसमें उसने बताया कि वह 20 अगस्त को बहराइच मंडी से अपने ट्रक से माल लेकर सुरभि मिल पर आया था। मंगलवार दोपहर एक बजे माल खाली होने के बाद वह अपने खलासी साहब खान निवासी छावनी थाना दरगाह शरीफ जनपद बहराइच के साथ मिल से बाहर आकर अपोलो टायर की दुकान के बगल में अपने ट्रक को खड़ा करके खाना खाने के लिए चला गया। जहां से वापस आने के बाद ट्रक अपने स्थान पर नहीं था। काफी खोजबीन के बाद भी ट्रक नहीं मिला तो अगले दिन पुलिस को सूचना दी गई।

पुलिस अधिक्षक ने किया खुलासा

एसपी ने बताया कि पकड़े गए सय्यद और मोहम्मद आरिफ निवासी विशुनपुरवा थाना रुधौली ने बताया कि उन लोगों की चालक गुल अहमद से जान पहचान थी। उसने गुल अहमद को वापसी का भाड़ा दिलवाने को कहा। इसलिए ट्रक खड़ी कर ढाबे पर खाने चले गए। उसने बताया कि इस बीच ट्रक पर नज़र बनाए हुए था। पूर्व में बनाई गई योजना के अनुसार पास बब्बन क्रेन की दुकान से ख़रीदे गए ट्रक के फाटक का लॉक खोलने की चाभी व ट्रक को स्टार्ट करने की डुप्लीकेट चाभी ले लिया था। जिसकी मदद से मोहम्मद आरिफ ट्रक को स्टार्ट कर आगे ट्रक को लेकर जा रहा था।

दूसरा आरोपी अपने मित्र की कार से पीछे-पीछे जाकर चौकड़ी टोल प्लाजा से पहले बेलाड़े शुक्ल से मुड़ कर राम जानकी मार्ग होते हुए छावनी राम जानकी तिराहे पर नवनिर्मित ओवरब्रिज को पार कर खेसुआ गांव के एक बाग में ट्रक खड़ा करवा दिया। किंतु पुलिस के सक्रिय होने व जगह-जगह चेकिंग होने के कारण खेसुआ से लाकर सिहारी गांव के सुनसान स्थान पर खड़ा करवा दिया। मामले के शांत होने पर मौक़ा देखकर ट्रक को मेहदावल-कैम्पियरगंज के रास्ते नेपाल ले जाकर बेचने की योजना थी।

त्रिनेत्र ने आरोपियों के इरादे पर फेरा पानी

एसपी के अनुसार घटना स्थल के आसपास ऑपरेशन त्रिनेत्र के तहत पहले से ही कई सीसी कैमरे लगवाए गए हैं। ट्रक की केबिन खोलने से लेकर उसे लेकर जाते समय की सारी फुटेज उन कैमरों में दर्ज हो गई थी। जिसका नतीजा रहा कि सूचना देने के 24 घंटे के भीतर मामले का खुलासा हो गया।

error: Content is protected !!
×